Sunday, August 7, 2011

सब कुछ उल्टा चल रहा है

वह कौन सी जगह है------

जहां सब कुछ उल्टा हो रहा है?


लगभग सभीं ग्रह अपनीं धुरी पर घडी की सूयी के विपरीत दिशा में घूमते हैं …

जब बच्चा चलनें लगता है तब उसके विपरीत दिशा में चलना चाहता है

जिधर बड़े उसे चलाना चाहते हैं …

आप इन बातों पर कभीं एकांत में बैठ कर सोचना पर अभीं इसे देखें---------


भारत अनेक देशों को मिला कर [ पहले देश होते थे अब उनको राज्य कहते हैं ] एक देश तो बना गया लेकिन बिना छिलके के संतरे जैसी इसकी स्थिति दिखती है / सब लोग राज्यों में , जातियों में .

गरीबी - अमीरी के नाम पर आपस में बाते हैं और जब कभीं आखें बंद करके अपनें देश की स्थिति के बारे में आप सोचेगें तो दुःख के अलावा और कुछ न मिलेगा /


भारत में राम राज्य की बातें जो करते हैं वे नाटक करते हैं , उनके पास कुछ नहीं वे आगे - पीछे से नंगे हैं और आप आदमी जिसके तन में दो - चार बूँदें खून की बची हैं उन्हें भी निकाल लेना

चाहते हैं / भारत में राम राज्य आ सकता है यदि निम्न बातों पर यहाँ की जनता ध्यान दे ----

  • देश में जितनें राज्य हैं उनके नामों को समाप्त कर दिया जाए

  • राज्यों के नाम भारत – एक , भारत – दो , भारत – तीन … ... ऐसे होनें चाहिए न कि -----

    गुजरात , महाराष्ट्र , उत्तर प्रदेश आदि

  • पढ़ाई और नौकरी में कोई आरक्षण जाती के नाम पर नहीं होना चाहिए , आरक्षण मात्र गरीबी

    के आधार पर होना चाहिए

  • जब पढ़ाई में आरक्षण हो तब नौकरी में नहीं होना चाहिए

  • जाति एवं धर्म पर जो लोग जनता को बाटना चाह रहे हों उनको चौराहों पर खडा करके गोली

    मार देनें की ब्यवस्था संबिधान में होना चाहिए

  • जिस पार्टी के 10% से कम MLA हों उसकी राज्य स्तर पर मान्यता समाप्त हो जानी चाहिए

  • जिस पार्टी के 10 % से कम MP [ elected ] हों उनको समाप्त कर देना चाहिए

  • भारत में दो प्रकार के डान हैं एक छोटी - छोटी पार्टियां बना कर अपनी कमाई कर रहे हैं

    और दूसरे वे हैं जो बिल्डरों / ब्यापारियों को बंदूख दिखा कर लूट रहे हैं . इन दोनों की सही ब्यवस्था होनी चाहिए //

  • हन्दू , मुसलमान . ईसाई . गिजराती , बंगाली , पंडित , दलित , क्षत्रिय . नाइ . धोबी आदि शब्दों को समाप्त कर देना चाहिए या इनको चलन से बाहर कर देनें की ब्यापक ब्यवस्था होनी चाहिए // भारत को शुद्ध करो , वोट के नाम पर अब इस से दुर्गन्ध आ रही है //


===== ओम ======




No comments:

Post a Comment