Monday, July 11, 2011

हमलोग उस समय क्या कर रहे थे

सोमनाथ का मंदिर लूटा गया तब------

कुरुक्षेत्र का शिव मंदिर जब महमूद गजनी लूट रहा था तब----

काशी विश्वनाथ का मंदिर जब गिराया जा रहा था तब-----

अयोध्या का राम लला का मंदिर जब तोड़ा जा रहा था तब----

हम लोग क्या कर रहे थे ?

कह रहे हैं लोग की केरल के मंदिर में कमसे कम पांच लाख हजार करोड का माल दबा हुआ है और कई दिन तो हो गए लोगों को गणना करते हुए और कई हप्ते और लगनें की उम्मीद दिख रही है /

भारत का धन किस का धन है जो मंदिरों में या राज महलों में दबा हुआ है ?

राजस्थान के राजा सर्वसम्पन्न माने जाते थे …..

छत्तीस गढ़ नाम ही छत्तीस राजाओं के राज्यों के क्षेत्र के नाम पर रखा गया है …..

मिथिला और पाटलीपुत्र भारत का प्राचीनतम इतिहास की किताब हैं …...

मिथिला में यदि त्रेता युग मे माँ जानकी पैदा हुयी तो द्वापर में आ कर

कंश की पत्नी भी मिथिला की थी.....

राजाओं को धन कहाँ से मिलता था ?

गरीबों के खून को राजा लोग चूसते थे और वह धन या तो राज महलों में दबा हुआ है या भय के कारण मंदिरों में दबा हुआ है /

सरकार को चाहिए की प्राचीनतम मंदिरों एवं किलों में जमा धन का पता लगाए और उस धन को गरीब इलाकों के विकास में खर्च करे क्योंकि वह धन मात्र गरबों आ है //


====ओम=======


No comments:

Post a Comment