Friday, April 1, 2011






चन्दन कहाँ लगाएं



चन्दन लगाने के निम्न स्थान हैं और चन्दन लगानें के ढंग भी अलग – अलग हैं



ललाट का मध्य भाग …......


सर में जहां हिदू लोग चोटी रखते हैं [सहस्त्रार चक्र] …....


दोनों आँखों की पलकों के ऊपर …......................................


दोनों कानों पर ….......................


नाक …................


गला ….............


दोनों भुजाओं का मध्य भाग …...........


ह्रदय …...................


गर्दन …..................


नाभि ….................


रीढ़ की हड्डी का नीचला भाग नाभि के ठीक पीछे लगभग एक इंच नीचे की ओर …....



आप पहले इन अंगों को ठीक ढंग से देखें और इनको साधना की दृष्टि से समझें



न्यूरोलोजी की द्रष्टि से यदि आप इन स्थानों को देखते हैं तो चन्दन का सीधा सम्बन्ध


इस तंत्र के उन भागों से हैं


जो----------------


या तो सूचनाओं को इक्कठी करते हैं या इक्कठी की गयी सूचनाओं की एनेलिसिस करते हैं


विज्ञान अभीं तक यह समझता रहा है कि स्पाइनल कार्ड मात्र सूचनाओं को इक्कठी करनें


के तंत्र का एक प्रमुख भाग है लेकिन अभीं हाल में पता चला है कि यह सूचनाओं की


एनेलिसिस भी कर्ता है जैसे ब्रेन करता है



आगे के अंक में चन्दन के सम्बन्ध में कुछ और अहंम बातों को देखेंगे



======ओम==============





No comments:

Post a Comment