Friday, September 17, 2010

क्यों न सोचें ?


[क] 3500 B.C. के आस-पास मिले सबूतों के आधार पर ईराक में गिनती की सोच थी लेकीन वहाँ का
कोई भी ब्यक्ति गणित में नोबल पुरष्कार नहीं पाया होगा ?

[ख] भारत में मिथिला एक तरफ कंश की ससुराल थी तो दूसरी तरफ माँ सीता का जन्म स्थान भी था ।

[ग] याज्ञबल्क इशा पूर्व में मिथिला के निवासी , पृथ्वी को एक ठोस गेंद की भाति बताया था और यह भी
कहा था की यह घुमती है लेकीन उनकी बात यों ही दब गयी ।

[घ] शून्य का जन्म भारत में हुआ लेकीन शून्य के आधार पर कम्पूटर भारत में न बन पाया ।

च] इशा पूर्व 300-200 वर्ष पूर्व वैशेशिका में जो वेदों का एक अंग है , Particle Physics की कुछ बुनियादी

बाते हैं लेकीन यहाँ कौन इस पर सोच सकता था ?

=== जय हो =====

No comments:

Post a Comment