Saturday, February 4, 2012

अकेलापन

  • दो के मध्य द्वन्द का कारण तीसरा होता है

  • वह तीसरा ब्यक्ति , बस्तु या फिर भ्रम हो सकता है

  • मनुष्य कभी अकेला नहीं रहता,अकेला पन यातो मनोरोगी बनाता है या प्रभु मय बनाता है

  • दो के मध्य तीसरे का होना स्वर्ग या नर्क का द्वार खोल सकता है

  • मन स्तर पर अकेला होना साधना है

  • भौतिक स्तर पर संसार में अकेला होना पागल पन ला सकता है

  • अन्तः करण में अकेला पन ब्रह्म सरोवर होता है

  • राम शब्द बहुतों के नाम का हिस्सा है लेकिन कितनों के ह्रदय में राम है?

  • होठों पर राम नाम का होना अहंकार को मजबूत बना सकता है ह्रदय का राम राम धाम होता है

  • रामलीला करनें वाले – देखनें वाले अनेक हैं लेकिन उनमें से कितनों के दिल में राम बसा होता है


=====ओम्======


No comments:

Post a Comment