Saturday, February 18, 2012

प्रकृति और हम

प्रकृति में कौन बड़ा कौन छोटा है?

प्रकृति में मनुष्य को छोड़ कर अन्य जीवों में लड़ाई का कारण भोजन एवं काम है

प्रकृति का अस्तित्व लेनें-देनें पर आधारित है लकिन क्या हम कुछ देना भी चाहते हैं?

पानी – हरियाली प्रकृति देती है लेकिन इसके लिए वह हमसे कुछ चाहती भी है

जन्म प्रकृति आधारित है लेकिन जीवन का मार्ग स्व आधारित है

संसार क्रीडा स्थल है जहां हर पल खुशी का पल होना चाहिएलेकिन---- ?

मेरे दुःख का कारण तुम हो , यह सोच हमें अँधेरे से निकलनें नहीं देती

" नानक दुखिया सब संसार " लेकिन सभीं मौत से दूर भागते हैं

पानें की चाह वाले अनेक हैं लेकिन देनेंवाले?

कुछ मिल सकता है यह सोच हमें लोगों के करीब लाती है लेकिन क्या हमसे वह भी कुछ चाहता है , यह सोच क्या कभी हमारे अंदर आती है ?

==== ओम् =======




No comments:

Post a Comment