Saturday, November 13, 2010

जीवन में कहाँ - कहाँ रस है ?

आप भी सोचें और मैं भी सोच रहा हूँ -------
जीवन में कहाँ - कहाँ हमें रस दिखता है ?



हम जब कुछ ऐसा कर रहे होते हैं जैसा कोई और न किया हो तो उसमें रस दिखता है ॥

घर में जब कोई नया बच्चा आता है तब उसमें हमें रस दिखता है ॥

जब हमें कोई कुछ उपहार देता है तब उसमें हमें रस दिखता है ॥

जब बेटा या बेटी परीक्षा में औअल आते हैं तब उसमे रस दिखता है ॥

जब पड़ोसी का बेटा / बेटी पढाई में अपने बेटे / बेटी से पीछे रहते हैं तब उसमे रस दिखता है ॥

जब कोई गरीब मेहमान घर आये तो उसमें रस दिखता है ॥

पढ़ोसियों में जब युद्ध हो रहा हो तब उसमे रस दिखता है ॥

अब आप सोचें की हम सब की गति -----

परमात्मा की ओर है , या ----

नरक की ओर ?

हमें क्या करना है और हम क्या कर रहे हैं ,
आखिर कुछ तो समझ होनी ही चाहिए ॥

फिर मिलेंगे अगले अंक में ....

No comments:

Post a Comment